Thursday, June 20

Hypertension को नियंत्रण में रखने के 10 आसान उपाय

Hypertension: कारण, लक्षण और बचाव के तरीके

Hypertension, जिसे हाइपरटेंशन के नाम से भी जाना जाता है, एक गंभीर स्वास्थ्य समस्या है जो कई लोगों को प्रभावित करती है। यह स्थिति तब होती है जब आपके रक्त वाहिकाओं में रक्त का दबाव अत्यधिक बढ़ जाता है, जिससे हृदय और अन्य अंगों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है। इस लेख में हम उच्च रक्तचाप के कारण, लक्षण, जोखिम कारक और बचाव के उपायों पर विस्तृत चर्चा करेंगे।

उच्च रक्तचाप क्या है?

उच्च रक्तचाप एक स्थिति है जिसमें धमनियों में रक्त का दबाव सामान्य से अधिक होता है। यह दो मापों में व्यक्त किया जाता है: सिस्टोलिक और डायस्टोलिक दबाव। सिस्टोलिक दबाव वह है जब हृदय धड़कता है और रक्त को पंप करता है, जबकि डायस्टोलिक दबाव वह है जब हृदय आराम करता है।

Hypertension के कारण

अनुवांशिक कारक Hypertension

उच्च रक्तचाप का एक प्रमुख कारण अनुवांशिक होता है। यदि आपके परिवार में किसी को उच्च रक्तचाप है, तो आपको भी इसका जोखिम हो सकता है।

जीवनशैली

अस्वास्थ्यकर खानपान, शारीरिक गतिविधि की कमी, अत्यधिक शराब का सेवन और धूम्रपान उच्च रक्तचाप के प्रमुख कारकों में शामिल हैं।

मानसिक तनाव

अत्यधिक मानसिक तनाव और चिंता भी उच्च रक्तचाप को बढ़ावा देती है।

मोटापा

अधिक वजन या मोटापा भी उच्च रक्तचाप का प्रमुख कारण है। यह रक्त वाहिकाओं पर अतिरिक्त दबाव डालता है और हृदय को अधिक काम करना पड़ता है।

खानपान Hypertension

अधिक नमक का सेवन, असंतुलित आहार और फास्ट फूड का अधिक प्रयोग उच्च रक्तचाप को बढ़ाता है।

उच्च रक्तचाप के लक्षण

सिरदर्द

लगातार सिरदर्द उच्च रक्तचाप का एक सामान्य लक्षण है।

चक्कर आना

उच्च रक्तचाप के कारण कभी-कभी चक्कर भी आ सकते हैं।

थकान Hypertension

अत्यधिक थकान और कमजोरी महसूस होना भी इसका एक लक्षण हो सकता है।

नज़र में धुंधलापन

कभी-कभी उच्च रक्तचाप के कारण दृष्टि में धुंधलापन आ सकता है।

नाक से खून बहना

यह लक्षण भी कभी-कभी उच्च रक्तचाप के साथ देखने को मिलता है।

उच्च रक्तचाप के जोखिम कारक

उम्र Hypertension

जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, उच्च रक्तचाप का जोखिम भी बढ़ता है।

परिवार का इतिहास

यदि आपके परिवार में उच्च रक्तचाप का इतिहास है, तो आपका जोखिम भी बढ़ सकता है।

लिंग

पुरुषों में महिलाओं की तुलना में उच्च रक्तचाप का जोखिम अधिक होता है, खासकर 45 साल की उम्र तक।

जीवनशैली

अस्वास्थ्यकर जीवनशैली, जैसे धूम्रपान, शराब का सेवन और असंतुलित आहार, जोखिम को बढ़ाते हैं।

Hypertension से बचाव के तरीके

स्वस्थ आहार Hypertension

फल, सब्जियां, साबुत अनाज, और कम वसा वाले डेयरी उत्पाद अपने आहार में शामिल करें। नमक का सेवन कम करें और संतृप्त वसा से बचें।

नियमित व्यायाम 

नियमित रूप से व्यायाम करने से न केवल आपका वजन नियंत्रित रहता है, बल्कि आपका रक्तचाप भी सामान्य रहता है।

वजन नियंत्रण

अपने वजन को नियंत्रित रखने से उच्च रक्तचाप का जोखिम कम होता है।

तनाव प्रबंधन

ध्यान, योग, और अन्य तनाव प्रबंधन तकनीकों का उपयोग करें।

नियमित जांच Hypertension

अपने रक्तचाप की नियमित जांच करवाना आवश्यक है ताकि किसी भी असामान्यता को समय रहते पहचाना जा सके।

धूम्रपान और शराब का त्याग

धूम्रपान और अत्यधिक शराब का सेवन बंद करें। यह आपके रक्तचाप को सामान्य बनाए रखने में मदद करेगा।

उच्च रक्तचाप का उपचार

दवाइयाँ Hypertension

उच्च रक्तचाप के उपचार के लिए डॉक्टर द्वारा सुझाई गई दवाइयाँ लें।

जीवनशैली में बदलाव

जीवनशैली में सकारात्मक बदलाव लाकर उच्च रक्तचाप को नियंत्रित किया जा सकता है।

नियमित मॉनिटरिंग Hypertension

अपने रक्तचाप की नियमित मॉनिटरिंग करें और डॉक्टर से संपर्क में रहें।

निष्कर्ष

उच्च रक्तचाप एक गंभीर स्वास्थ्य समस्या है जिसे नज़रअंदाज़ नहीं किया जाना चाहिए। उचित खानपान, नियमित व्यायाम, तनाव प्रबंधन, और नियमित जांच के माध्यम से इसे नियंत्रित किया जा सकता है। अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखें और उच्च रक्तचाप से बचाव के लिए उपरोक्त उपायों का पालन करें।

read more on SAMACHAR PATRIKA

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *