Sunday, May 19

सोशल

UPSC 2023: असफलता से सफलता का सफर – टॉपरों की कहानी
नेशनल, सोशल

UPSC 2023: असफलता से सफलता का सफर – टॉपरों की कहानी

UPSC 2023 के टॉपर: युवाओं के प्रेरणा स्रोत संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की परीक्षा को भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक माना जाता है। हर साल लाखों युवा इस परीक्षा को देते हैं, लेकिन चुनिंदा कुछ ही सफल हो पाते हैं. साल 2023 में भी UPSC परीक्षा का परिणाम आया और युवाओं को अपने आदर्श मिले. आइए जानते हैं UPSC 2023 के टॉपरों के बारे में और उनकी सफलता की कहानियों से प्रेरणा लेते हैं. टॉप रैंक हासिल करने वाले - आदित्य श्रीवास्तव इस वर्ष UPSC परीक्षा में लखनऊ के आदित्य श्रीवास्तव ने अव्वल स्थान प्राप्त किया. पिछले साल 216वीं रैंक हासिल करने वाले आदित्य ने इस बार यह शानदार सफलता हासिल कर ثابت किया कि लगन और मेहनत से कोई भी लक्ष्य प्राप्त किया जा सकता है. अन्य UPSC टॉपर और उनका संघर्ष आदित्य के अलावा कई अन्य उम्मीदवारों ने भी शानदार प्रदर्शन किया. दूसरे स्थान पर रहे अनिमेष प्रधान ने र...
सूर्य ग्रहण 2024 के दौरान इन सावधानियों का करें पालन
सोशल

सूर्य ग्रहण 2024 के दौरान इन सावधानियों का करें पालन

Surya Grahan एक खगोलीय घटना है, जिसमें चंद्रमा सूर्य के सामने से गुजरता है, जिससे पृथ्वी पर आंशिक या पूर्ण रूप से सूर्य का अंधेरा हो जाता है। 2024 में, सूर्य ग्रहण की दो घटनाएं घटित होंगी। आइए, आगामी सूर्य ग्रहण के बारे में विस्तार से जानें। सूर्य ग्रहण 2024 की तिथियां (Dates of Surya Grahan 2024) पहला सूर्य ग्रहण: 8 अप्रैल 2024 (आंशिक) दुर्भाग्यवश, भारत से यह ग्रहण दृश्य नहीं होगा। यह मुख्य रूप से प्रशांत महासागर, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और दक्षिण पूर्व एशिया के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा। दूसरा सूर्य ग्रहण: 2 अक्टूबर 2024 (वलयाकार) यह सूर्य ग्रहण दक्षिण अमेरिका के कुछ हिस्सों, अटलांटिक महासागर के दक्षिणी भाग और अफ्रीका के पश्चिमी तट से देखा जा सकेगा। भारत से भी यह ग्रहण दृश्य नहीं होगा। सूर्य ग्रहण के प्रकार (Types of Surya Grahan) सूर्य ग्रहण तीन प्रकार के होते ...
रिज़र्व बैंक का गौरवशाली क्षण
सोशल

रिज़र्व बैंक का गौरवशाली क्षण

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) का उद्घाटन समारोह - एक संस्मरणीय क्षण भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI), जिसे देश का केंद्रीय बैंक कहा जाता है, इसका उद्घाटन समारोह भारतीय अर्थव्यवस्था के इतिहास में एक महत्वपूर्ण क्षण था। इस भव्य कार्यक्रम ने एक ऐसे संस्थान की नींव रखी जिसने राष्ट्र की वित्तीय स्थिरता सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। हालाँकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि आरबीआई की स्थापना एक लंबी प्रक्रिया थी। मुद्रा प्रबंधन और वित्तीय स्थिरता की आवश्यकता को 19वीं शताब्दी के अंत में ही पहचाना गया था। कई आयोगों और समितियों का गठन किया गया ताकि यह निर्धारित किया जा सके कि केंद्रीय बैंक की स्थापना कैसे और कब की जाए। अंततः, 5 अप्रैल, 1935 को, भारतीय रिज़र्व बैंक अधिनियम पारित किया गया। इस ऐतिहासिक अधिनियम ने आरबीआई की स्थापना का मार्ग प्रशस्त किया। और फिर आया वह बहुप्रतीक्षित दिन - [DATE आ...
किताबें या स्क्रॉल? सोशल मीडिया युग का असली दुश्मन
सोशल

किताबें या स्क्रॉल? सोशल मीडिया युग का असली दुश्मन

Social Media (सामाजिक मीडिया) एक ऐसा डिजिटल प्लेटफॉर्म है, जो लोगों को आपस में जुड़ने और एक-दूसरे के साथ जानकारी साझा करने का माध्यम प्रदान करता है. यह वेबसाइट्स और एप्प्स का एक ऐसा समूह है जो यूजर्स को ऑनलाइन समुदाय बनाने, विचारों को साझा करने, और दुनिया भर के लोगों के साथ जुड़ने में सक्षम बनाता है. कुछ लोकप्रिय सोशल मीडिया साइट्स में फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्वि सोशल मीडिया युवाओं को कई तरह से प्रभावित करता है, सकारात्मक और नकारात्मक दोनों तरह से. यहां कुछ पहलुओं पर गौर किया जा सकता है: Social Media सकारात्मक प्रभाव: जानकारी और शिक्षा: सोशल मीडिया युवाओं को दुनिया भर की घटनाओं, मुद्दों और विचारों के बारे में जागरूक रहने में मदद करता है. वे सीखने के लिए विभिन्न स्रोतों और समुदायों तक पहुंच सकते हैं. संपर्क और जुड़ाव: सोशल मीडिया दूर रहने वाले दोस्तों और परिवार से जुड़े रहने ...
किशोरों का बढ़ता ‘कूल’ बनने का नशा: क्या माता-पिता कर रहे हैं भूल?
सोशल

किशोरों का बढ़ता ‘कूल’ बनने का नशा: क्या माता-पिता कर रहे हैं भूल?

तम्बाकू एक ऐसा पौधा है जिसकी सूखी हुई पत्तियों को पीसा या विभिन्न रूपों में तैयार किया जाता है, जिसका सेवन किया जाता है। इसे "मीठा जहर" भी कहा जाता है क्योंकि इसमें निकोटीन नामक पदार्थ होता है जो एक addiction लगाने वाला पदार्थ है। आमतौर पर तम्बाकू का सेवन सिगरेट के रूप में किया जाता है, लेकिन भारत में इसे बीड़ी, हुक्का, गुटखा, खैनी आदि कई रूपों में खाया जाता है. तम्बाकू के सेवन से स्वास्थ्य पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है, इसलिए इसका सेवन नहीं करना चाहिए। भारत में तंबाकू का सेवन करने की कानूनी उम्र 21 वर्ष है। यह सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पाद अधिनियम (COTPA) 2003 के तहत निर्धारित किया गया है। इस कानून के अनुसार, 21 वर्ष से कम आयु के किसी भी व्यक्ति को तंबाकू उत्पादों का विक्रय या वितरण नहीं किया जा सकता है। यह कानून तंबाकू के उपयोग को कम करने और युवाओं को इसके हानिकारक प्रभावों से बचाने ...