नागरिक सुरक्षा सेवाओं में वार्डेन सेवा सबसे अहम : डा. गुलाटी – समाचार पत्रिका

समाचार पत्रिका

Latest Online Breaking News

नागरिक सुरक्षा सेवाओं में वार्डेन सेवा सबसे अहम : डा. गुलाटी

😊 Please Share This News 😊

नागरिक सुरक्षा के ऑफिसर कमांडिंग की प्रथम बैठक

नागरिक सुरक्षा सेवाओं में वार्डेन सेवा सबसे अहम: डा. संजीव गुलाटी

समाचार पत्रिका, गोरखपुर।

बस्ती (उत्तर प्रदेश)। नागरिक सुरक्षा शहरों में अब बस्ती भी जुड़ गया है। अब यहां भी नागरिक सुरक्षा की संपूर्ण गतिविधियां संचालित की जाएंगी। इसके मद्देनजर आज नागरिक सुरक्षा कोर के ऑफिसर कमांडिंग की प्रथम बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में अपर जिलाधिकारी अभय कुमार मिश्र की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में उपस्थित अपर जिलाधिकारी अभय कुमार मिश्र ने कहा कि आपदा के दिनों में लोगों को राहत देने में नागरिक सुरक्षा की महती भूमिका रही है और मैंने स्वयं इनके कार्यों को देखा है। उन्होंने वार्डनो के कार्यों की भूरि भूरि प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि वार्डनों के चरित्र सत्यापन एवं चिकित्सा प्रमाण पत्र बनवाने में कोई भी दिक्कतें नहीं आएगी पूरा प्रयास किया जाएगा। उन्होंने नागरिक सुरक्षा कार्यालय हेतु भवन उपलब्ध कराने का भी आश्वासन दिया।
बैठक के संयोजक एवं प्रभारी उप नियंत्रक सत्य प्रकाश सिंह ने बैठक में आए हुए सभी आगंतुकों का स्वागत किया एवं गोरखपुर में नागरिक सुरक्षा द्वारा किए गए कार्यों पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि नागरिक सुरक्षा समाज और राष्ट्र हित में कार्य करने के ऐसे संगठन है जहां हम निष्काम भाव से राष्ट्र और समाज की सेवा करते हैं।
बैठक में उपस्थित उप जिलाधिकारी आनंद श्रीनेत एवं सूरज यादव ने लोगों को आश्वासन दिया कि बस्ती में नागरिक सुरक्षा के संचालन में कोई भी कमी आड़े नहीं आएगी।

बैठक में उपस्थित चीफ वार्डन डा. संजीव गुलाटी ने कहा कि नागरिक सुरक्षा सेवाओं में वार्डेन सेवा सबसे अहम है। समाज के संभ्रांत व्यक्ति तन, मन, धन से समाज के विभिन्न क्षेत्रों में कार्य करते हैं एवं प्रशासन के कार्यों में सहयोग करते हैं उनके कार्यों की जितनी भी प्रशंसा की जाए उतनी कम है।

बैठक में वरिष्ठ सहायक उप नियंत्रक वेद प्रकाश यादव ने प्रस्तुतीकरण में बताया कि नागरिक सुरक्षा की स्थापना 1962 चीन युद्ध के समय किया गया था, परंतु वर्तमान में इसे आपदा से जोड़ दिया गया है, जनधन की क्षति को कम करने, औद्योगिक उत्पादन बनाए रखने में इसका प्रयोग किया जा रहा है। उन्होंने इस विभाग के पदानुक्रम पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि इसे चतुर्थ आर्मी की संज्ञा दी जाती है।

बैठक में न्यायिक सहायक रामकुमार एवं समाजसेवी अब्दुल सत्तार को प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।
बैठक में सहायक उप नियंत्रक बनवारी लाल, डिप्टी चीफ वार्डेन, डा. शरद श्रीवास्तव, मुख्य अवैतनिक स्टाफ ऑफिसर महबूब सईद, मुख्य स्टाफ ऑफिसर राम कृष्ण मिश्रा, स्टाफ ऑफिसर टू चीफ वार्डन सुरेश गुप्ता, डिविजनल वार्डन सिविल लाइंस अखिलेश ओझा, डिविजनल वार्डन गोरखनाथ राजेश चंद चौधरी, डिविजनल वार्डेन विकास जलान, पूर्व उप नियंत्रक बाबूराम, पोस्ट वार्डेन डा.अमरनाथ जायसवाल, सेक्टर वार्डेन महेंद्र प्रताप, अभिषेक सोनकर, कनिष्ठ लिपिक अरविंद गौतम, राजेश कुमार सिंह, इंद्रमणि पांडे, क़ाज़ी फरजान, सौरभ तिवारी, अखिलेश सिंह, समेत तमाम लोग उपस्थित रहे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

error: Content is protected !!