गोरखपुर: अप्रैल माह में तीन कोटेदारों ने सोनबरसा गांव में बांटा राशन, कार्डधारक परेशान – समाचार पत्रिका

समाचार पत्रिका

Latest Online Breaking News

गोरखपुर: अप्रैल माह में तीन कोटेदारों ने सोनबरसा गांव में बांटा राशन, कार्डधारक परेशान

😊 Please Share This News 😊

समाचार पत्रिका, ब्यूरो।
सहजनवां, वीपी सिंह।

हरपुर-बुदहट थाना क्षेत्र के सोनबरसा गांव में कोटे को लेकर अजीब मामला प्रकाश में आया है। महज एक ही महीने में यहां तीन कोटेदारों ने ई-पास मशीन बदली। तब जाकर कार्डधारकों को राशन मिल सका। कार्डधारक तीन कोटेदारों के यहां चक्कर लगाने से परेशान रहे।

सोनबरसा गांव की पुष्पा देवी करीब तीस सालों तक कोटेदार रही। इस गांव में कुल 334 कार्डधारक हैं। वर्ष 2020 में गांव के लोगों ने अनियमितता का आरोप लगाकर पुष्पा देवी की दुकान सस्पेंड करा दी। इसी साल यहां नए कोटे के चयन हुआ। जिसमें धर्मेंद्र जायसवाल कोटेदार चुने गए। तबसे वही कोटेदार थे। लेकिन 18 अप्रैल को पुष्पा देवी का कोटा फिर से बहाल हो गया जबकि धर्मेंद्र जायसवाल को विभाग ने कोटे के पद से हटा दिया। अप्रैल माह में एक चरण का कोटा धर्मेंद्र जायसवाल बांट चुके थे। 19 अप्रैल को पुष्पा देवी ने कोटा का उठान किया और वितरण शुरू कर दिया, लेकिन 150 कार्डधारक ही कोटा लेने पहुंचे और बाकी कार्डधारक 23 अप्रैल को कमिश्नर आफिस पहुंच गए। उन्होंने पुनः पुष्पा देवी के खिलाफ शिकायत किया। जिसके बाद आज विभाग ने पुष्पा देवी का कोटा पड़ोस के गांव भदरखी के कोटेदार काशीनाथ में अटैच कर दिया। आज वितरण के अंतिम दिन ज्यों ई-पास मशीन काशीनाथ के पास पहुंची बाकी कार्डधारकों ने सोनबरसा चौराहा पहुंच अंगूठा लगाकर राशन ले लिया। इस तरह से एक ही गांव में धर्मेंद्र जायसवाल, पुष्पा देवी और काशीनाथ कोटेदार ने राशन वितरण किया। जिससे गांव वाले पूरे महीने परेशान रहे।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

error: Content is protected !!