स्वास्थ्य कर्मियों का करे सम्मान, कर्मचारियों की माने सलह: सीएमओ – समाचार पत्रिका

समाचार पत्रिका

Latest Online Breaking News

स्वास्थ्य कर्मियों का करे सम्मान, कर्मचारियों की माने सलह: सीएमओ

😊 Please Share This News 😊

रिपोर्ट: प्रमोद पाल

समाचार पत्रिका, गोरखपुर

कोविड में दूसरों को सुरक्षित रखने के लिए घर-परिवार की चिंता छोड़ निभा रहे हैं फर्ज भेदभाव और दुर्व्यवहार के कारण मनोबल पर असर पड़ने से लड़ाई हो जाएगी कमजोर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुधाकर पांडेय ने जनपदवासियों से अपील की है कि वह स्वास्थ्यकर्मियों को सम्मान दें और अंग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ता कोविड के संबंध में जो भी परामर्श दे रहे हैं उस पर अमल करें। चिकित्सक, स्टॉफ, पैरामेडिकल, आशा कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और एएनएम कोविड की रोकथाम और लोगों की सुरक्षा के लिए घर-परिवार को छोड़ कर फर्ज निभा रहे हैं। ऐसे में भेदभाव और दुर्व्यवहार से उनके मनोबल पर बुरा असर पड़ सकता है और कोविड के खिलाफ लड़ाई कमजोर पड़ सकती है। इसके साथ ही अगर किसी भी स्वास्थ्यकर्मी और अंग्रिमपंक्ति कार्यकर्ता के साथ कोई दुर्व्यवहार करेगा तो स्वास्थ्य विभाग उसके खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने के लिए विवश होगा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जिले में कोरोना संभावित की खोज, कोविड जांच करवाने, मेडिकल किट बांटने, कोविड टीकाकरण करवाने, नियमित टीकाकरण करवाने, मातृ-शिशु देखभाल समेत कई कार्यक्रमों का दारोमदार आशा कार्यकर्ताओं और एएनएम पर है। सर्विलांस के कार्य में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता भी अहम योगदान दे रही हैं। कोविड काल में जहां एक तरफ लोगों को घरों में सुरक्षित रहना है, वहीं इन लोगों को प्रोटोकॉल के साथ लोगों के बीच काम करना होता है। कई कार्यकर्ता इस दायित्व को निभाने के लिए अपने घर में ही अपनों से आइसोलेट रह रहे हैं। चिकित्सक, स्टॉफ और पैरामेडिकल भी परिवार और छोटे-छोटे बच्चों से आइसोलेट होकर दायित्व निभा रहे हैं। ऐसे लोगों का सम्मान होना चाहिए न कि भेदभाव या दुर्व्यवहार। यह सभी लोग जनसमुदाय की मदद के लिए सक्रिय हैं और इस अभियान में सफलता तभी मिल पाएगी जब समुदाय की तरफ से भी सद्भावनापूर्ण व्यवहार अपनाया जाए। *सुरक्षित तरीके से मिलेंगे तो नहीं होगा कोविड* किसी भी चिकित्सक, स्टॉफ, अंग्रिम पंक्ति कार्यकर्ता से अगर लोग कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए मिलेंगे तो कोविड प्रसार का खतरा नहीं होगा। यह सभी सतर्क लोग हैं जो समय-समय पर कोविड स्क्रीनिंग और जांच करवाते रहते है।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

error: Content is protected !!