EXCLUSIVE: ड्यूटी से गायब डॉक्टर्स, ले रहे हैं लाखों की सैलरी – समाचार पत्रिका

समाचार पत्रिका

Latest Online Breaking News

EXCLUSIVE: ड्यूटी से गायब डॉक्टर्स, ले रहे हैं लाखों की सैलरी

😊 Please Share This News 😊

रिपोर्ट: अंकित श्रीवास्तव

समाचार पत्रिका, गाज़ीपुर

• डीएम की सख्ती लाई रंग, पकड़ में आए 6 गायब सरकारी चिकित्सक

• गाज़ीपुर के सरकारी अस्पतालों में तैनात 6 MBBS डॉक्टर सालों से है नदारद, लेकिन सैलरी लेते हैं हर महीने

• डीएम की जांच में आई बात सामने

कोरोना महामारी को लेकर जहां पूरा देश जद्दोजहद कर रहा है तो वहीं जनपद गाजीपुर के 6 चिकित्सक पिछले कई सालों से चैन की बंशी बजाते हुए ड्यूटी से गायब होकर विभाग की मिलीभगत से प्रतिमाह लाखों रुपए का वेतन भी डकार रहे हैं। इस बात का खुलासा जिलाधिकारी ने अपने एक जांच में किया है। जिसके बाद सभी चिकित्सकों को नोटिस जारी किया गया है ताकि उनके खिलाफ कार्रवाई किया जा सके। बताते चलें कि यह सभी डॉक्टर यहां से अपना पूरा वेतन विभागीय अधिकारी और कुछ कर्मचारियों की मिलीभगत से ले रहे थे। प्राप्त सूचना के अनुसार बड़े शहरों में निजी नर्सिंग होम्स में अपनी प्रैक्टिस भी कर रहे हैं जिसके चलते वे लगातार पिछले कई सालों से गायब हैं।

गाज़ीपुर के सरकारी अस्पतालों में तैनात 6 MBBS डॉक्टर सालों से है नदारद, लेकिन सैलरी लेते हैं हर महीने :

ये पूर्वी उत्तर प्रदेश के जनपद गाजीपुर का जिला अस्पताल है यहां पर पिछले कई सालों से चिकित्सकों की भारी कमी है। फिर भी जुगाड़ के सहारे पूरा काम चल रहा है। वहीं कई ऐसे भी चिकित्सक हैं जो ड्यूटी में होने और अपना पूरा वेतन लेने के बाद भी सालों से गायब होकर निजी प्रैक्टिस करने में लगे हुए है। इसका खुलासा उस वक्त हुआ जब जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी से जनपद में तैनात डॉक्टरों की लिस्ट मांगी और फिर ट्रेजरी से डॉक्टरों के वेतन के भुगतान हुए लिस्ट निकलवाया। जिसमें सभी डॉक्टरों के वेतन का भुगतान किया गया था। दोनों लिस्टो में 6 डॉक्टर ऐसे मिले जो जो मुख्य चिकित्सा अधिकारी के द्वारा दिए गए लिस्ट में उनका नाम शामिल नहीं था, तब जिलाधिकारी का माथा ठनका और जब जांच करवाया तो पता चला कि पिछले कई सालों से जिले में तैनात 6 सरकारी डॉक्टर्स अपने ड्यूटी से नदारद है।
इन डॉक्टरों में डॉ मनमोहन मिश्रा जो जनपद में एसीएमओ के पद पर हैं लेकिन पिछले तीन सालों से गायब हैं और सैलरी है जो प्रतिमाह लाखों में भुगतान हो रहा है। इसके साथ ही डॉ० प्रवीण मिश्र, डॉ० पंकज पांडे, डॉ० शांतनु मिश्रा, डॉ० राहुल और डॉ० महीधर का नाम शामिल है, जो गायब है।

डॉक्टर जो भी अनुपस्थित हैं उनपर शो कॉज नोटिस जारी है, संतोषजनक जवाब नहीं तो होगी कार्रवाई : डीएम

जिला अधिकारी गाज़ीपुर ने भी इनके अनुपस्थिति की पुष्टि करते हुए बताया कि वर्तमान समय में कोविड 19 के सेकेंड वेव से काफी संक्रमण फैला है, पेंडमिक का टाइम है, लोग परेशान है, ऐसे में हम सबका दायित्व है कि हम सब प्रयास करें, यदि ऐसे में कोई मेडिकल स्टाफ बिना उच्चाधिकारियों को बताए या बिना नियम के अनुपस्थित है तो न ही ये उसकी गरिमा के अनुरूप है और न ही समाज के, हमने जिन मेडिकल और पैरामेडिकल स्टाफ की जिले में ड्यूटी लगाई और चेक कराया तो पता चला कि उनमें से कुछ जिले से बाहर हैं, फिर हमने उन्हें सूचित कराया, कुछ आ गए हैं और कुछ आने की प्रक्रिया में हैं, जो भी लोग बिना जानकारी दिए अनुपस्थित हैं ये अनुचित है और उनके खिलाफ कानूनी करवाई भी होगी, एक सवाल पर डीएम मंगला प्रसाद सिंह ने बताया कि सभी 6 अनुपस्थित डॉक्टरों में दो आ चुके हैं, बताया गया है कि और एक डॉ० आ रहे हैं, बाकी जो भी अनुपस्थित हैं उनपर शो कॉज नोटिस जारी है, संतोषजनक जवाब नहीं मिलने पर करवाई भी होगी।

 

मंगला प्रसाद सिंह, डीएम गाजीपुर

 

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

error: Content is protected !!