लखनऊ: शादी विवाह के सीजन में बाजार बंद, वर-वधू पक्ष को हो रहा भारी नुकसान – समाचार पत्रिका

समाचार पत्रिका

Latest Online Breaking News

लखनऊ: शादी विवाह के सीजन में बाजार बंद, वर-वधू पक्ष को हो रहा भारी नुकसान

😊 Please Share This News 😊

नीरज तिवारी, लखनऊ

समाचार पत्रिका, ब्यूरो

राजधानी सहित प्रदेशभर में कोरोना वैश्विक महामारी के चलते बजारें बन्द है और शादी-विवाह के सीजन में वर-वधू पक्ष को भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। दुकानें बंद होने से शादी के लिए दोनों परिवारों में बेटियों बहू को देने के लिए शादी का सामान बारातियों के लिए भोजन जलपान की व्यवस्था का सामान खरीदने में भारी परेशानियां हो रही है और तमाम शादियां कैंसिल हो रही है व टूट रही है। शादियां कैंसिल होने से होटल एवं बारातघरों में बुकिंग कराने का एडवांस पैसा डूब रहा है। छोटी बड़ी शादियों के अनुसार एडवांस की रकम भी लाखों में होती है। यह नुकसान लड़का और लड़की के दोनों पक्षों को बर्दास्त करना पड़ रहा है। बैंड बाजा कैटरर्स फोटोग्राफर लाइट टेंट हलवाई आइसक्रीम पार्लर आतिशबाज फूल माला वाले एवं अन्य लोगों को किया गया एडवांस भी डूब रहा है। ऐसे हालात अत्यंत दुखद एवं भयावाह हैं। यह स्थितियां समाज के सभी वर्गों के लिए कष्टदायक है। इस मुद्दे पर उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष व पूर्व सांसद बनवारी लाल कंछल ने कहा कि कोविड की दूसरी लहर के कारण प्रदेश का समस्त उद्योग एवं व्यापार पूरी तरह से त्रस्त है। अप्रैल और मई में लगभग दुकानें बंद हैं और व्यापार नहीं हो रहा है। ऐसी स्थिति में बिजली का बिल हाउस टैक्स कर्मचारियों का वेतन एवं दुकान के अन्य खर्चों का भुगतान करना असंभव है। देश और प्रदेश का व्यापारी इस दशा में भारी पीड़ा से गुजर रहा है। प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश के बाजारों को बंद करवाना पूर्णतया अनुचित है प्रदेश में कहीं भी सरकार अथवा जिलाधिकारी द्वारा बाजार बंद ना करवाये जाएं।यदि बाजार बंद करवाना बहुत आवश्यक हो तो ऐसी दशा में प्रतिदिन सुबह या शाम 4 घंटा बाजार खोलने की व्यवस्था अवश्य की जाये।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

error: Content is protected !!