डयूटी के दौरान लापता सैनिक, परिजनों ने लगाई पीएम, रक्षामंत्री व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से लगाई गुहार….. – समाचार पत्रिका

समाचार पत्रिका

Latest Online Breaking News

डयूटी के दौरान लापता सैनिक, परिजनों ने लगाई पीएम, रक्षामंत्री व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से लगाई गुहार…..

😊 Please Share This News 😊

 

REPORT-HANSRAJ SINGH

समाचार पत्रिका, अमेठी

कोरोना की बढ़ती हुई महामारी के बीच केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के संसदीय क्षेत्र अमेठी से एक दुखद घटना सामने आ रही है। जहां पर जामो थाना क्षेत्र के उमराडीह गांव के रहने वाले 21 वर्षीय नौसैनिक मोहम्मद अरमान पिछले 17 दिनों से लापता है। जिसका आज तक कोई सुराग नहीं लग पाया है। वही मोहम्मद अरमान के परिजनों ने मीडिया के माध्यम से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह तथा अमेठी सांसद व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से मदद की गुहार लगाई है।

अमेठी जनपद के अंतर्गत जामो थाना क्षेत्र के उमराडीह गांव के निवासी मोहम्मद रऊफ़ के अरमानों को 2 वर्ष पहले उस वक्त पंख लग गए जब उनका बेटा मोहम्मद अरमान भारतीय नौसेना में भर्ती हुआ। नौ सेना में भर्ती होने पर उनके घर वाले भी बहुत खुश थे। इन दिनों वह गुजरात के पोरबंदर में ड्यूटी कर रहा था। अरमान पिछले माह छुट्टी पर घर आया हुआ था कुछ दिन परिवार के बीच रहने के बाद वापस वह ड्यूटी पर गया। अरमान के घर वालों का कहना है कि जब वह पहली बार शिप में सवार होकर ड्यूटी करने गया तब वह वापस आ गया। लेकिन जब वह दूसरी बार शिप में सवार होकर ड्यूटी करने गया तब वह वापस नहीं आया। शिप में उसके साथ क्या हुआ? कब हुआ? कैसे हुआ? यह किसी को कुछ भी नहीं पता है, हालांकि विभाग के द्वारा 30 अप्रैल 2021 को नौसैनिक मोहम्मद अरमान के मिसिंग की सूचना का भेजा गया पत्र घरवालों को प्राप्त हुआ। जैसे ही पत्र प्राप्त हुआ घरवालों के तो होश उड़ गए मानो उनके खुशी को ग्रहण लग गया हो तबसे परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है। घरवालों ने आनन-फानन में विभागीय लोगों से जानकारी चाही लेकिन विभागीय लोगों के द्वारा कोई भी सही जानकारी नहीं दी गई। जिसको लेकर परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। प्रतिदिन परिजन विभाग से संपर्क में हैं, लेकिन 17 दिन बीत चुके हैं अब तक अरमान का कोई पता नहीं चल सका है। ऐसे में कोरोना वायरस से फैली महामारी अपने चरम पर है, प्रदेश में लॉकडाउन लगा हुआ है कोई कहीं पर आ जा नहीं सकता है। इससे भी परिजनों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। 17 दिनों के लंबे इंतजार के बाद जब विभाग द्वारा कोई माकूल सूचना घरवालों को नहीं प्राप्त हुई तब घरवालों ने मीडिया के माध्यम से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय मंत्री व अमेठी सांसद स्मृति ईरानी से मदद की गुहार लगाई है। परिजनों को विभागीय अधिकारियों की बातों पर भरोसा नहीं रहा क्योंकि जब भी परिजन विभाग में संपर्क करते हैं उनको सिर्फ यही बताया जाता है कि सर्च जारी है। अभी तक कुछ भी नहीं पता लग पाया है। ऐसे में परिजनों को किसी अनहोनी की आशंका अंदर ही अंदर खाए जा रही है।।

मोहम्मद रऊफ, सैनिक का पिता

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

error: Content is protected !!