लखनऊ: 92 बेड खाली, फिर भी नहीं हो रही कोविड मरीजों की भर्ती – समाचार पत्रिका

समाचार पत्रिका

Latest Online Breaking News

लखनऊ: 92 बेड खाली, फिर भी नहीं हो रही कोविड मरीजों की भर्ती

😊 Please Share This News 😊

नीरज तिवारी, लखनऊ

समाचार पत्रिका, ब्यूरो

उत्तर प्रदेश की राजधानी में सुल्तानपुर रोड स्थित कैंसर इंस्टीट्यूट विगत दिनों प्रदेश के मुख्यमंत्री ने सौ बेड़ों के कोविड अस्पताल का आगाज किया था। अस्पताल प्रशासन सरकार के आदेशों की धज्जियां उड़ा रहा। आज की स्थिति में कैंसर इंस्टीट्यूट के कोविड अस्पताल में मात्र आठ मरीज़ ही भर्ती हैं और शेष मरीजों को नो इंट्री है।सूत्र बताते हैं कि जो आठ मरीज़ इस अस्पताल में भर्ती वो अस्पताल के आला कमान के कृपा पात्र हैं। गौरतलब तलब हो कि एक तरफ उत्तर प्रदेश सरकार कोरोना वैश्विक महामारी के इस भीषण दौर में जनमानस की जान बचाने के प्रयासरत, वहीं दूसरी ओर कैंसर इंस्टीट्यूट का प्रशासन सरकार की मंशा को दरकिनार करते हुये अपनी मनमानी पर उतारू हैं। राजधानी का जिला प्रशासन और स्वस्थ्य महकमा मरीजों को अस्पतालों में भर्ती करवाने के लिये एकीकृत कोविड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेण्टर चलाया जा रहा है। जहां पर सैकड़ों फोन अस्पतालों में भर्ती के लिये जनता के आ रहे हैं और जिला प्रशासन और स्वस्थ्य विभाग लोगों को भर्ती कराने के लिए हर सम्भव प्रयास भी कर रहा, लेकिन कैंसर इंस्टीट्यूट का कोविड अस्पताल कोई सहयोग करता नहीं नजर आ रहा है। अस्पताल में एक भी मरीज कोविड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेण्टर का भर्ती नहीं है। गौरतलब तलब हो कि दूसरी ओर न जाने किन लोगों के लिये उच्च स्तरीय ऑक्सीजन व्यवस्था से सुसज्जित और लक्जरी सुविधाओं वाले पांच वीआईपी कमरे कैन्सर इन्स्टीट्यूट में बन्द चल रहे हैं। यहां तक कि राजधानी के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश तक को भी कैन्सर इन्स्टीट्यूट में तैयार किये गये इन वीआईपी कल्चर वाले कमरों के बारे कोई जानकारी नहीं है।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

error: Content is protected !!