लखनऊ: कोरोना से निपटने के लिये विधायक डॉ.नीरज बोरा ने निधि से दिए एक करोड़ – समाचार पत्रिका

समाचार पत्रिका

Latest Online Breaking News

लखनऊ: कोरोना से निपटने के लिये विधायक डॉ.नीरज बोरा ने निधि से दिए एक करोड़

😊 Please Share This News 😊

नीरज तिवारी, लखनऊ

समाचार पत्रिका, ब्यूरो

कोरोना की दूसरी लहर भयावह हो चुकी है। हर तरफ हाहाकार मचा हुआ है। विकराल रूप ले चुकी महामारी से निपटने व मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवायें मुहैया कराने के लिए जहां प्रदेश सरकार हर संभव प्रयास कर रही है वहीं जनप्रतिनिधि भी मदद के लिये आगे आये हैं। बीते दिनों लखनऊ मध्य के भाजपा विधायक व कैबिनेट मंत्री बृजेश पाठक ने विधायक निधि से एक करोड रुपए धनराशि दी थी। वहीं रविवार को लखनऊ उत्तर विधानसभा क्षेत्र के भाजपा विधायक डॉक्टर नीरज बोरा ने सराहनीय पहल करते हुये अपनी विधायक निधि से एक करोड़ रुपये की धनराशि देने का ऐलान किया है। उन्होंने मुख्य विकास अधिकारी को पत्र लिखकर क्षेत्रीय विकास निधि थे कोविड की रोकथाम एवं उपचार हेतु बाल महिला चिकित्सालय अलीगंज को 75 लाख रुपए की धनराशि कोविड टेस्टिंग किट, ऑक्सीजन, पल्स ऑक्सीमीटर आदि उपकरण निर्गत करने के लिए कहा है। इसके अलावा विधायक डॉक्टर नीरज बोरा ने 25 लाख रुपये की धनराशि नगर निगम को पांच ट्रैक्टर ट्राली (सेनेटाइजिंग किट सहित) उपलब्ध कराने के लिये दिया है। गौरतलब है कि वर्ष 2020 में भी कोरोना महामारी से निपटने के लिए विधायक डा.नीरज बोरा ने सबसे पहले एक करोड़ रुपये की धनराशि यूपी कोविड केयर फंड में दिया था। वह बीते वर्ष 2020 में 23 मार्च को विधायक डा0 नीरज बोरा ने मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष में एक माह का वेतन भी दिया था।

लखनऊ की बाजारें सप्ताहिक बन्दी के साथ 22 अप्रैल तक बंद, कोविड संक्रमण से निपटने के लिये बनायी रणनीति
राजधानी में लगातार बढ़ रही कोरोना वैश्विक महामारी के चलते चारों ओर त्राहि-त्राहि मची हुई है। ऐसे में व्यवस्थाओं का यह आलम है कि जांच से लेकर श्मशान घाट तक हर जगह अपनी बारी का इंतजार करना पड़ रहा है। अस्पतालों में जांच नहीं हो पा रही है। संक्रमितों की हालत बिगड़ने पर भी न तो समय से एंबुलेंस मिल पा रही है और न ही अस्पतालों में बैड मिल रहे हैं। संक्रमितों के साथ ही मौतों का आंकड़ा भी तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में राजधानी के व्यापारी संगठनों ने 22 अप्रैल तक बाजारों को बन्द रखने का फैसला लिया। बताते चलें कि अधिकांश संगठनों ने बुधवार तक बंद रखने का फैसला लिया है और गुरूवार राजधानी के अधिकांश क्षेत्रों में सप्ताहिक बन्दी रहती है। इसी क्रम में अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के राष्ट्रीय अध्यक्ष संदीप बंसल, राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य एवं लखनऊ महानगर के अध्यक्ष प्रदीप अग्रवाल, राष्ट्रीय मंत्री लोहा व्यापार मंडल के महामंत्री रिपन कंसल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष आकाश गौतम, युवा अध्यक्ष असीम मार्शल, महामंत्री अश्वनी वर्मा, लखनऊ के महामंत्री एवं प्रदेश मीडिया प्रभारी सुरेश छाबलानी ने बताया कि लखनऊ में कोरोनावायरस को देखते हुए लखनऊ के बाजार बुधवार तक बंद रहेंगे। इसमें कोई जोर जबरदस्ती नहीं है लेकिन अगर खुद को अपने परिवार को और लखनऊ को बचाना है तो यह निर्णय शक्ति से मानना पड़ेगा। इसी क्रम में चौक सर्राफा एसोसिएशन के महामंत्री विनोद माहेश्वरी ने बताया कि आज जूम पर सर्राफा व्यापारियों के साथ एक मीटिंग में यह निर्णय लिया गया कि चौक सराफा बाजार आगामी सोमवार मंगलवार एवं बुधवार तक बंद रहेगा।

बताते चलें कि लखनऊ मेटल मरचेंट एसोसिएशन ने अध्यक्ष हरीश चंद्र अग्रवाल ने बताया कि संगठन ने पहले से ही याहिया गंज बर्तन बाजार को 22 अप्रैल तारीख तक पूर्णता बंद रखने का फैसला ले रखा है। इसके अलावा सर्राफा एसोसिएशन लखनऊ इलेक्ट्रिक मर्चेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष पराग गर्ग, लोहा व्यापार मंडल, कपड़े से जुड़ी तमाम संस्थाएं इलेक्ट्रॉनिक्स एसोसिएशन मोबाइल एसोसिएशन और विभिन्न बाजारों की अलग-अलग संस्थाओं ने इस बंद में अपना समर्थन और सहयोग दिया है।

 

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें 

स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे

Donate Now

error: Content is protected !!